एंड्राइड  Oreo क्या है और इसमें क्या क्या नए फीचर्सस है

एंड्राइड  Oreo क्या है और इसमें क्या क्या नए फीचर्सस है

एंड्राइड  O या Oreo या एंड्राइड  8.0 इसे आप किसी भी नाम से पुकार सकते हैं. क्या आपको पता है की ये एंड्राइड  Oreo क्या है? अभी के समय में ये गूगल का सबसे बेहतरीन मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम है, जिसे गूगल ने August 21, 2017 को release किया. बहुत ही जल्द ही आप अपने एंड्राइड  Phones में पा सकते हैं. कहा जा रहा है की इस साल का ये काफी अपेक्षित मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम था. इस latest ऑपरेटिंग सिस्टमअपने साथ कई नए फीचर्सस और अपडेट लेकर आया है जो की लोगों को काफी पसंद आएगा ऐसा सुनने में मिल रहा है.

गूगल ने इस बार भी मीठी चीज़ों पर ऑपरेटिंग सिस्टम का नाम रखने की परंपरा को बरकरार रखा है. इस नए मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम को Oreo नाम दिया गया है. गूगल का कहना है कि एंड्राइड  O एक मिठाई की तरह है. ये दुनिया की फेवरेट कुकी है. गूगल का दावा है कि उसका ये नया ऑपरेटिंग सिस्टमअब तक का सबसे स्मार्ट, फ़ास्ट और पावरफुल साबित होगा. इसमें दोगुना bootup, adaptive icons, better audio quality जैसे कई बेहतरीन फीचर्स दिए गए हैं. तो मैंने सोचा क्यूँ न आप लोगों को एंड्राइड  Oreo क्या है के बारे में पूरी जानकारी दे दी जाये जिससे की आप लोगों को भी इस नए मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम के बारे में पता हो. तो बिना देरी किये चलिए शुरू करते हैं और जानते हैं की आखिर ये एंड्राइड  Oreo ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है और इसके नए फीचर्स s क्या हैं.

एंड्राइड  O किन स्मार्ट फ़ोन  में सपोर्ट करेगा

android
android

इस बात को लेकर लोगों में काफी उत्सुकता है की उनके स्मार्ट फ़ोन s में ये नया ऑपरेटिंग सिस्टमएंड्राइड  O सपोर्ट करेगा भी या नहीं. तो में आपके जानकरी के लिए बता दूँ की एंड्राइड  O अभी कुछ ही स्मार्ट फ़ोन  में सपोर्ट करेगा. कंपनी का कहना है कि फिलहाल एंड्राइड  8.0 Oreo गूगल के कुछ स्मार्टफोन में सपोर्ट करेगा. तो चलिए जानते हैं ये कौन-से स्मार्टफोन हैं जिनमें यूजर्स  को नये मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम का update मिलेगा.

  • गूगल Pixel
  • गूगल Pixel XL
  • Nexus 5X
  • Nexus 6P
  • Nexus Lineup

सैमसंग के कुछ स्मार्ट फ़ोन  में कर सकता है सपोर्ट

सैमसंग के फ्लैगशिप Galaxy S8 और Galaxy S8+ स्मार्टफोन में यह नया ऑपरेटिंग सिस्टम update सपोर्ट करेगा लेकिन इसमें कुछ वक़्त लग सकता है. ये भी बताया जा रहा है कि एंड्राइड  8.0 Oreo सैमसंग के कई स्मार्टफोन में सपोर्ट करेगा. इनमें गैलेक्सी नोट 8 फैबलेट भी शामिल है.

इसके अलावा Huawei, HTC, LG, Motorola, Sony जैसे मोबाइल कंपनी के नए High-end स्मार्ट फ़ोन  में गूगल का यह नया ऑपरेटिंग सिस्टम सपोर्ट कर सकता है.

गूगल के पूर्व ऑपरेटिंग सिस्टमके नाम

गूगल ने अपनी नामकरण की परंपरा की तरह ही इस बार भी एंड्राइड  OS का नाम किसी Sweet Treat के अनुशार ही alphabetically order में दिया है OREO. आपके जानकारी के लिए मैंने उन सभी ऑपरेटिंग सिस्टम की list बना दी है. सबसे पहला एंड्राइड  Alpha, Beta, Cupcake, Donut, Eclair, Froyo, Gingerbread, Honeycomb, Ice Cream Sandwich, Jelly Bean, KitKat, Lollipop, Marshmallow, and Nougat और हाल ही में ही release हुआ Oreo.

एंड्राइड  Oreo के नए फीचर्सस

अब मैं आप लोगों को गूगल Oreo के नए फीचर्सस  के बारे में जानकरी देने वाला हूँ जिन्हें शायद आप न जाते हों. तो चलिए जानते हैं ऐसे 10 best फीचर्सस जो की एंड्राइड  O अभी अपने नए ऑपरेटिंग सिस्टममें दे रहा है.

  1. Dot Notifications

Notification हमेशा से एंड्राइड  का एक बहुत ही strong और useful फीचर्स  रहा है. नए Version में customizable notification channels की सुविधा यूजर्स  को दी गयी है जिसके मदद से वो similar एप में group alert की सुविधा पा सकते हैं. उदहारण के तोर में अगर आपके पास बहुत सारे एप हैं जो की travel से सम्बंधित हैं तब आप एक ही समय में वो सारे एप के notification के साथ interact और control कर सकते हैं उनके setting की मदद से. आप बड़े आसानी से वो सारे notification को अपने जरुरत के अनुशार Snooze कर सकते हैं इसके लिए आपको time frame की सुविधा दी गयी है. Snooze के background और messaging style को भी आप set कर सकते हो.

  1. Background Limits

एंड्राइड  N की ही तरह इसमें आप background में चल रहे app activities को restrict कर सकते हैं. इसमें जो difference है वो ये की एप ही बिना किसी user input के ही battery life extension को prioritize करता है. एंड्राइड  O automatically ही limit set करता है background एप के लिए, की कोन सी services, broadcasts और location अपडेट background में चलेंगी. इसका ये मतलब होता है की जो एप background में चलते हैं उनका battery life के ऊपर कम असर पड़ता है. ये developer की ही करामती है की ऐसे नए methods निकलें जो की ये ensure करें की किन एप को background में चलना चाहिए और किनको नहीं.

  1. ‘Auto-fill Credentials’ Framework

शायद ही कोई होगा जिसे Autofill वाली फीचर्स  पसंद नहीं होगा. हम में से प्राय सभी को बार बार एक ही information को type करना बिलकुल भी पसंद नहीं है. और Auto Fill की service से यूजर्स  को credit card और login information को बार बार भरना नहीं होगा, जिससे की उनका time भी बचेगा और repetition भी नहीं होगा.

  1. Picture-in-Picture Mode

आपने तो picture-in-picture video को पहले ही iPad और दुसरे एप जैसे की Youtube में experince कर लिया होगा, लेकिन शायद आपने इस फीचर्स  को कभी स्मार्ट फ़ोन  में नहीं देखा होगा. एंड्राइड  O की मदद से video की size को shrink किया जा सकता है जो की currently play हो रहा है floating video में, इससे एक फ़ायदा ये है की यूजर्स  एक ही समय में अलग अलग एप में parallel में काम कर सकते हैं. एंड्राइड  O developers को ये option provide करता है की वो aspect ratio और custom controls को set कर सकें ताकि PiP mode को दुसरे एप में enable कर सकें.

  1. Better Keyboard Control

क्या आप Chromebook or tablet का इस्तमाल करते हैं, यदि हाँ तो आपको स्मार्ट फ़ोन  को इस्तमाल करने में थोडा odd लगता होगा और आप चाह रहे होंगे की इसके कुछ फीचर्स  काश स्मार्ट फ़ोन  में भी हो तो अच्छा हो. एंड्राइड  O ने ऐसे ही कुछ फीचर्स  को अपनाया है जैसे की superior arrow और tab key navigation जब आप physical keyboard का इस्तमाल कर रहे हों. ये फीचर्सस की request तब से की गयी थी जब से Chromebooks ने एंड्राइड  App को सपोर्ट करना चालू कर दिया था, इससे ये जानने को मिला की गूगल Chromebooks में एंड्राइड  app की Compatibility को लेकर serious है.

  1. Adaptive Icons

Andoid OEMs ज्यादातर अपने ही custom OS skins का इस्तमाल करते हैं, जिससे की in-built और popular icons की appearance और Shape दोनों बाकि के तरह दिखने लगते हैं, जिसे की हम Play Store से download करते हैं. कुछ तो multiple screen size को लेकर scale भी करते हैं. लेकिन इन सबसे एंड्राइड  की look बड़े devices में ख़राब हो जाती है. नसीब से एंड्राइड  O इस बार में कुछ update किया है. इन्होने adaptive icons का इस्तमाल किया है जिससे की एंड्राइड  O की visual look काफी बेहतर बन गयी है और इसे किसी भी बड़े devices में इस्तमाल करने से भी इसकी look में कोई फरक नहीं आ रहा है जो की एक बड़ी सफलता है.

  1. Connectivity Advancements

Wi-Fi Aware जैसे फीचर्स  के होने से ये एप और nearby devices को allow करते हैं discover और communicate करने के लिए Wi- Fi के मदद से जिसमे किसी Internet access point की जरुरत नहीं है. हमें improved Bluetooth सपोर्ट भी देखने को मिला जो की high-quality audio को सपोर्ट करती है Sony LDAC की मदद से. इसके साथ third-party calling एप को भी सपोर्ट करती है ताकि वो आपस में काम कर सके आपकी Network Operator’s के मदद से.

  1. Multi-display सपोर्ट

ये सुनने में शायद अजीब लगे लेकिन एंड्राइड  O multiple display सपोर्ट करता है, जिससे की User किसी ongoing activity को एक screen से दुसरे screen में ले जा सकता है. ये फीचर्स  ChromeBook में काफी काम में आ सकती है क्यूंकि Chrome OS धीरे धीरे ज्यादा एंड्राइड  friendly बन रहा है.

  1. Better Management of Cached data

एंड्राइड  O ले हिसाब से सभी App में अभी से Storage space quota रहेगा cache data के लिए, जब भी सिस्टमको disk space free करना है तब ये उन एप से data delete कर देगा जो की allocated quota first से ज्यादा data consume कर रहे हैं. इससे यूजर्स  को काफी मदद मिलेगी जो की पहेल ये देख सकते थे की उनकी available storage size धीरे धीरे कम हो रही थी क्यूंकि unnecessary cached data उस storage को occupy कर ले रहा था पहले.

  1. New Enterprise फीचर्सस

गूगल के हिसाब से एंड्राइड  O profile owner और device owner management के बेहतर modes provide करता है जो की ज्यादा Powerful, ज्यादा secure हैं पहले के मुकाबले. ये Enterprise फीचर्स s ज्यादा highlight करते हैं की इसके ability managed profile को corporate-owned device में इस्तमाल करने में और enterprise management file-based encryption को लेकर.

इन सभी फीचर्सस में आपने ये जरुर देखा होगा की कैसे एंड्राइड  O बहुत हद तक Nougat’s के footsteps को follow कर रहा है, complete कर रहा है कुछ ऐसे काम जिसे की Nougat द्वारा प्रारंभ किया गया था और इसके साथ ये एंड्राइड  की Granular nature of control को strengthening कर रहा है. इसके साथ Goolge इसके नए नए ऑपरेटिंग सिस्टम में कुछ ऐसे ऐसे फीचर्स s को add कर रहा है जिससे की एंड्राइड  की सही तरीके से development हो सके निर्धारित समय में.

मुझे पूर्ण आशा है की मैंने आप लोगों को एंड्राइड  8.0 Oreo क्या है के बारे में पूरी जानकारी दी और में आशा करता हूँ आप लोगों को एंड्राइड  O के बारे में समझ आ गया होगा. मेरा आप सभी पाठकों से गुजारिस है की आप लोग भी इस जानकारी को अपने आस-पड़ोस, रिश्तेदारों, अपने मित्रों में Share करें, जिससे की हमारे बिच जागरूकता होगी और इससे सबको बहुत लाभ होगा. मुझे आप लोगों की सहयोग की आवश्यकता है जिससे मैं और भी नयी जानकारी आप लोगों तक पहुंचा सकूँ.

मेरा हमेशा से यही कोशिश रहा है की मैं हमेशा अपने readers या पाठकों का हर तरफ से हेल्प करूँ, यदि आप लोगों को किसी भी तरह की कोई भी doubt है तो आप मुझे बेझिजक पूछ सकते हैं. मैं जरुर उन Doubts का हल निकलने की कोशिश करूँगा. आपको यह लेख एंड्राइड  Oreo क्या है कैसा लगा हमें comment लिखकर जरूर बताएं ताकि हमें भी आपके विचारों से कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिले.

Pappu Bandod

मेरा नाम पप्पू बन्डोड मुझे हमेशा से ही कुछ ना कुछ नया करने की आदत है जब भी में अकेला होता हु तब तब में एक कुछ नए चीज का निर्माण जरुर कर देता हु मेरा मतलब ये है की में हमेशा नये विचार से कुछ न कुछ तैयार करता हु और उस विचार को में लिख लेता हु इसी लिए में यह वेबसाइट बनाई ताकि जब भी में कुछ नया सिखु तो में औरो को भी सीखा सकू अपने विचरो से अपने भवनों से धन्यवाद !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *