Computer में F1 से लेकर F12 तक Key का क्या काम है

Computer में F1 से लेकर F12 तक Key का क्या काम है

आजकल हर कोई कंप्यूटर और मोबाइल के बारे में जानता है.  लेकिन कुछ छोटी छोटी चीजें हैं जिनके बारे में हमें मालूम नहीं होता है। आज इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि जो कीबोर्ड आप सबसे ऊपर की लाइन में बटन देखते हैं F1 से लेकर F12 तक यह क्या काम आते हैं।

Computer
Computer

इन key को आप Function Key भी कह सकते है क्योकि इनसे आप कई एसे काम कर सकते है जिनके लिए आपको स्पेशल सॉफ्टवेर या कोई स्पेशल Tab खोलकर करना पड़ता है। कई कम्प्युटर मे यह सभी की का इस्तेमाल नही किया जाता है और कुछ का किसी स्पेशल सॉफ्टवेर या फिर हार्डवेअर  के लिए ही इनका इस्तेमाल होता है तो चलिये एक एक करके इसके बारे में जानते है।

F1 Key

F1 Key का इस्तेमाल किसी भी सॉफ्टवेर के मदद और Support Center ओपन करने के लिए किया जाता है।जब भी आप किसी सॉफ्टवेयर के खोलने के बाद उसमें F1 Key दबाते हैं तो आप उसके बारे में और जानकारी पा सकते हैं।

F2 Key

यह सिस्टम Reserve Key है। इसमें आप किसी भी फोल्डर पर click करके अगर आप तो F2 दबाते हैं तो आपक आप उसका नाम बदल सकते हैं। इसके लिए आपको Right क्लिक करके Rename पर क्लिक करने की जरूरत नहीं होगी आप सीधे F2 बटन दबाएं और आप अपने फोंल्डर का नाम आसानी से चेंज कर सकते है।

F3 Key

F3 Key सर्च करने के लिए इस्तेमाल की जाती है जैसे आप किसी भी ब्राउजर में सर्च करते है। जैसे की आप किसी सर्च बार पर क्लिक करते हैं और वहां पर आप सर्च करते हैं। इसी तरीके से यह भी जब आप F3 बटन प्रैस करके इन्टर बटन प्रैस करते हैं तो यह सीधा विंडो के सर्च बार में खुल जाएगा और इसके बाद आप यहाँ पर फाइल सर्च कर सकते हैं या फिर आप कोई वेबसाइट भी सर्च कर सकते हैं। यह इंटरनेट और हार्ड डिस्क के सभी फोल्डर पर काम करती है।

F4 Key

इस Key का इस्तेमाल अकेले नही होता है इसके लिए आपको ctrl और Alt की का इस्तेमाल करना होता है यह ज़्यादातर किसी भी सॉफ्टवेर को बंद करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है इसका इस्तेमाल आप अपना कम्प्युटर बंद करने के लिए भी कर सकते है।

F5 Key

इसका इस्तेमाल बहुत ज्यादा होता है और हर किसी को इसके इस्तेमाल का पता होता है। इसका ज़्यादातर इस्तेमाल Desktop को Refresh करने के लिए किया जाता है। इसके अलावा आप इससे अपने इंटरनेट के पेज को Reload कर सकते है।

F6 Key

इसका इस्तेमाल Selection करने के लिए किया जाता है जैसे की आप अभी इंटरनेट browser मे है तो आप इसको यहीं पर टेस्ट करके देख सकते है। इसके लिए आप अपने कर्सर को Address बार पर ले जा कर क्लिक करे उसके बाद आप F6 बटन को प्रैस करे यह आपके पुराने कर्सर पॉइंट पर आ जाएगा और एक बार फिर प्रैस करने पर यह वापिस एड्रैस बार पर चला जाएगा।

F7 Key

इसका इस्तेमाल विंडो मे नही होता है लेकिन आप इसको किसी भी सॉफ्टवेर के साथ कनैक्ट कर सकते है। लेकिन कनैक्ट करने के बाद यह की Key तभी काम करती है जब आपको वह सोफ्टवेयर ओपन या एक्टिवेट हो।

F8 Key

कम्प्युटर के शुरू होने के बाद और विंडो Startup होने से पहले इस key का इस्तेमाल इसके Menu ओपन करने के लिए किया जाता है। इससे आप अपने कम्प्युटर के कई फंकशन को change कर सकते है। जैसे की अगर आपको पेन ड्राइव से विंडो इन्स्टाल करना है तो आप इस Key का इस्तेमाल करके अपने कम्प्युटर के फंकशन को बदल कर सकते है।

F9 Key

इसका इस्तेमाल विंडो मे नही होता है लेकिन आप इसको किसी भी सॉफ्टवेर के साथ कनैक्ट कर सकते है। लेकिन कनैक्ट करने के बाद यह की Key तभी काम करती है जब आपको वह software ओपन या एक्टिवेट हो। उदाहरण के तौर पर आप इसका इस्तेमाल Media Classic Player में गाने change करने के लिए भी कर सकते है।

F10 Key

इस Key को दो तरह से इस्तेमाल किया जा सकता है। जैसे अगर आप अभी अपने browser में इसको प्रैस करते है तो इससे आपका browser का File मेनू automatic सिलैक्ट हो जाएगा। इसके अलावा अगर आप Shift+F10 का इस्तेमाल करते है इससे आपका Right मेनू ओपन हो जाएगा।

F11 Key

इस Key का इस्तेमाल ज़्यादातर browser और Microsoft कई तरह के सॉफ्टवेर को Full Screen मोड़ ऑन करने करने के लिए भी किया जाता है। आप इसको कई तरह के video player मे भी इस्तेमाल कर सकते है। इसका काम सिर्फ Full Screen करने के लिए किया जाता।

F12 Key

इसका इस्तेमाल सबसे ज्यादा ब्राउज़र मे किया जाता है जब ब्राउज़र मे इसको प्रैस किया जाता है तब यह Developer ऑप्शन को ओपन करता है जो की कई तरह के software मे बदलाव करने के लिए भी किया जाता है।

इन सबके अलावा अगर आप इनका इस्तेमाल Shift, Ctrl, Alt, और Window Key के साथ कई तरह के और काम भी कर सकते है। अगर आपको इसके अलावा कोई सवाल है तो आप नीचे comment Box मे लिख सकते है या फिर हमारे facebook page पर कमेंट कर सकते हैं।

 

 

Pappu Bandod

मेरा नाम पप्पू बन्डोड मुझे हमेशा से ही कुछ ना कुछ नया करने की आदत है जब भी में अकेला होता हु तब तब में एक कुछ नए चीज का निर्माण जरुर कर देता हु मेरा मतलब ये है की में हमेशा नये विचार से कुछ न कुछ तैयार करता हु और उस विचार को में लिख लेता हु इसी लिए में यह वेबसाइट बनाई ताकि जब भी में कुछ नया सिखु तो में औरो को भी सीखा सकू अपने विचरो से अपने भवनों से धन्यवाद !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *