External हार्ड डिस्क क्या होती है इसके फायदे और नुकसान

External हार्ड डिस्क क्या होती है इसके फायदे और नुकसान

हमारे डाटा को स्टोर करने के लिए किसी न किसी तरह की स्टोरेज की जरूरत पड़ती है चाहे वह इंटरनल स्टोरेज हो या फिर एक्सटर्नल स्टोरेज हो इंटरनल स्टोरेज हमें अपने Phone में भी देखने को मिलती है और हमारे लैपटॉप और Computer में भी देखने को मिलती है लेकिन एक्सटर्नल स्टोरीज की बात करें तो हम अपने Phone के लिए माइक्रो SD कार्ड इस्तेमाल करके हमारे Phone की स्टोरेज बढ़ा सकते हैं उसी तरह हम अपने Computer में भी एक्सटरनल स्टोरेज के लिए एक्सटर्नल हार्ड डिस्क का इस्तेमाल करते हैं.

एक्सटर्नल हार्ड डिस्क पहले के मुकाबले अब बहुत ज्यादा सस्ती और ज्यादा कैपेसिटी वाली हो गई है. पहले हमें 1TB की एक्सटर्नल हार्ड डिस्क मिलना बहुत मुश्किल होता था लेकिन अब आपको 5TB तक  एक्सटर्नल हार्ड डिस्क मिल सकती है लेकिन आप जितनी ज्यादा कैपेसिटी वाली हार्डडिस्क लेंगे उसके लिए इतनी ज्यादा पावर की जरुरत पड़ेगी कुछ एक्सटर्नल हार्ड डिस्क आपके Computer से पावर लेकर ऑपरेट हो सकती है लेकिन ज्यादा स्टोरेज वाली  हार्ड डिस्क को अलग से पावर सप्लाई की जरूरत पड़ती है आज की इस पोस्ट में हम आपको एक्सटर्नल हार्ड डिस्क के बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं.

अगर आप किसी इंटरनल हार्ड डिस्क को निकालकर उसको Enclosure में लगाकर और उसके सही कनेक्शन करके उसको एक्सटर्नल पावर से जोड़ते हैं तो वह भी एक External हार्ड डिस्क ही है.  इंटरनल हार्ड डिस्क को जब किसी External हार्ड डिस्क में कन्वर्ट किया जाता है और उस दौरान जब इसके ऊपर एक कवर लगाया जाता है उसको Enclosure कहा जाता है.

External हार्ड डिस्क अलग-अलग स्टोरेज कैपेसिटी में आती है. इसके अलावा इसके कनेक्शन के लिए अलग-अलग प्रकार होते हैं, जैसे USB कनेक्शन, FireWire कनेक्शन, eSATA कनेक्शन और वायरलेस कनेक्शन. इन सभी प्रकार की hard डिस्क का दाम भी अलग अलग होता है.  इन हार्ड डिस्क को पोर्टेबल हार्ड डिस्क भी कहा जाता है.

External Hard Disk के प्रकार

HDD-VS-SSD

External हार्ड डिस्क एक्सटर्नल हार्ड डिस्क साधारणता तीन प्रकार की होती है HDD , SSD और SSHD .

HDD एक मैकेनिकल स्टोरेज डिवाइस है जिसके अंदर मूविंग प्लेट्स होती है जैसा की आप फ़ोटो में देखे सकते है इसमें DVD के जैसे प्लेट्स है और इन प्लॉटर्स में ही डाटा स्टोर किया जाता है . और इसके अन्दर ऐसी बहुत सारे प्लॉटर्स होते है और इसमें एक Revolving Head होता है जिसकी मदद से डेटा इन प्लॉटर्स में से रीड किया जाता है.

Price =  Ra. 3,760

Buy Here

SSD एक तरह की चिप या मेमोरी कार्ड की तरह है जैसा की ऊपर फोटो में आप देख सकते है. इसमें कोई भी मूविंग पार्ट नहीं है. जो भी डेटा है वो सारा चिप में ही सेव होता है .

Price  = Ra. 11,650

Buy Here

SSHD ये अब दोनों का  Combination है जो दोनों को मिला कर बनाई गई है इसकी फुल फॉर्म है” Solid State hard Drive” ये आपको नई लैपटॉप्स में ही मिलेगी और वो भी किसी किसी लैपटॉप के साथ में .इसमें आपको 1TB SSD Aur 30 GB SSD ( Not Fixed)  मिलती है जिस से आप जो SSD है उसमे अपनों ऑपरेटिंग सिस्टम इनस्टॉल कर सकते है और HDD में अपनी फाइल सेव कर सकते है . इस आपका Computer फास्टली काम करेगा क्योंकि SSD की स्पीड बहुत ज्यादा होती है और आप बड़े आराम से अपने Computer पर काम कर सकते है .

External हार्ड डिस्क का इस्तेमाल क्यों करे

External हार्ड डिस्क इस्तेमाल करने का सबसे बड़ा कारण यह है कि यह आसानी से आप कहीं पर भी ले जा सकते हैं, इसको आप आसानी से कहीं भी इस्तेमाल कर सकते हैं, इसके अलावा अगर आपको कोई ज्यादा बड़े साइज़ की फाइल कही दुसरे Computer में डालनी है तो आप इसमें सेव करके कहीं पर भी ले जा सकते हैं और जहां पर आपको जरूरत होती है वहां पर इसको कनेक्ट करके अपना पूरा का पूरा डाटा ट्रांसफर कर सकते हैं.

इसके बहुत और फायदे जो कि हम आपको नीचे बता रहे हैं और इसके नुकसान भी हम आपको साथ-साथ बताएंगे कि इसके क्या नुकसान हो सकते हैं.

External हार्ड डिस्क के फायदे

1  सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसमें आपको इंटरनल हार्ड डिस्क से कम दाम में आपको यह Hard डिस्क मिल जाती है.

2  इसके अलावा अगर आप किसी सीडी को इस्तेमाल करते हैं तो वह सिर्फ एक बार इस्तेमाल हो पाती है तो इसका सबसे बड़ा फायदा है की आपको कम पैसे में इसमें बार बार डाटा डाल और निकाल सकते है.

3  इसका स्टोरेज आपको अलग अलग मिलेगा. इसका एक फायदा यह भी की आपको कोई बड़ा डाटा रखने के लिए ज्यादा CD और DVD का इस्तेमाल नही करना पड़ेगा.

4  इस Hard ड्राइव को कनेक्ट करने के लिए आपको किसी स्पेशल सॉफ्टवेर की जरुरुत नही होगी. इसके सभी प्रकार के कनेक्टर टाइप की Hard डिस्क आप आराम से कनेक्ट कर सकते है.

5 जब आपको कोई डाटा कहीं लेकर जाना हो जो ज्यादा बड़े साइज़ में हो जैसे 20 GB या 30GB हो तो यह आपकी अच्छी मदद करती है जिससे आप कोई भी Deta कही भी ट्रान्सफर कर सकते है.

6  अगर आपके Computer में किसी वजह से कोई दिक्कत आ जाती है तो आप इसमें अपना सारा Deta ट्रान्सफर कर सकते है.

7  इसका वजन भी बहुत कम होता है और साइज़ भी बहुत छोटा होता है जिससे आपको इसे रखने में परेशानी नही होगी.

8 अगर आपके Computer का इंटरनल स्टोरेज कम है तो आप इसका इस्तेमाल करके स्टोरेज बढ़ा सकते है.

External हार्ड डिस्क के नुकसान

1  यह ज्यादा नाजुक होती है जिसकी वजह से अगर यह कही गिर जाए तो जल्दी टूट जाती है. तो आपको इसको थोडा संभाल कर रखना होगा.

2  सर्दी और बारिश के मौषम में इसमें इलेक्ट्रोस्टाटिक्स डिस्चार्ज की प्रॉब्लम बहुत जल्दी आती है जिसकी वजह से में खराबी होना आम बात है.

3  अगर आप इसका ज्यादा इस्तेमाल करते है तो यह ज्यादा गर्म हो जाती है. अगर इसका Temp 50 डिग्री से ऊपर चला जाए तो इसके ख़राब होने के चांस जायदा हो जाते है.

4  ज्यादा छोटी होने की वजह से इसके चोरी होने के सम्भावना भी ज्यादा होती है.

5  कई बार इसकी केबल बहुत ज्यादा प्रॉब्लम करती है क्योकि केबल के हल्का सी Loose होने पर या ख़राब होने पर यह Computer से कनेक्ट नही हो पाती है.

तो यह कुछ External हार्ड डिस्क के फायदे और नुकसान है इसके अलावा हम आपको नीचे कुछ सबसे बढ़िया है पोर्टेबल हार्ड डिस्क बनाने वाली कंपनियों के नाम बता रहे हैं जो आप नीचे इनकी लिस्ट देख सकते हैं.

External हार्ड डिस्क बनाने वाली कंपनी

वैसे तो दुनिया में बहुत सारी कंपनी है जो कि एक्सटर्नल हार्ड डिस्क बनाती है लेकिन इंडिया में खुद ही टोपी कंपनी है जो कि हार्ड डिस्क बनाती है जैसे Sony, Samsung, WD इंटल  तो यह कुछ चार से पांच ब्रांड है और इससे ज्यादा की लिस्ट होने नीचे दी है.

  1. Intel SSD Drives
  2. Sony
  3. Toshiba
  4. Olixir
  5. Hitachi
  6. Samsung
  7. Fujitsu Hard Drives
  8. HP
  9. Western Digital (WD)
  10. Seagate

अगर आप बढ़िया कंपनी की एक्सटर्नल हार्ड डिस्क खरीदना चाहते हैं तो आप डब्लू डी सीए गेट Sony Samsung या इंटल में से किसी भी एक कंपनी की हार्ड डिस्क ले सकते हैं यह सभी कंपनी सबसे बढ़िया हार्ड डिस्क बनाती  है.

External हार्ड डिस्क कैसे ख़रीदे

अगर आप अपने लिए एक्सटर्नल हार्ड डिस्क खरीदना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले यह देखना है कि आपको कितना स्पेस चाहिए एक्स्ट्रा और हार्ड डिस्क आपको 500 GB से लेकर 1TB, 2TB, 3TB और 4TB तक की मिल जाती है लेकिन ज्यादा बड़ी एक्सटर्नल हार्ड डिस्क लेने का भी फायदा नहीं है और ज्यादा छोटी लेने का भी फायदा नहीं है तो सबसे पहले आप अपनी जरूरत देखें कि आपको कितने स्पेस की जरूरत है.

Type :–  हार्ड डिस्क के टाइप के बारे में हमने पहले ही आपको बता दिया है अगर आप एक बढ़िया स्पीड की हार्ड डिस्क लेना चाहते हैं तो आपको ज्यादा पैसे देने पड़ेंगे और इसके लिए आप एसएसडी हार्ड डिस्क खरीदेंगे लेकिन एसएसडी सिर्फ स्पीड के लिए ही खरीदें क्योंकि इसका प्राइस एक नॉर्मल हार्दिक से कई गुना ज्यादा होता है 1 TB की HHD लगभग  4000 रूपए की होती है और 1TB की SSD लगभग 32000 रूपए की होती है तो आप अपने जरूरत के हिसाब से ही हार्ड डिस्क का चुनाव करें

Space :- अगर आपको 500 GB की आवश्यकता है तो आप 1TB वाली हार्ड डिस्क खरीदें इसका फायदा यह होगा कि आपको थोड़े से ही पैसे ज्यादा लगाने पड़ेंगे और आपको 500 GB ज्यादा मिल जाएगा 500 जीबी की हार्डडिस्क आपको 3599 में मिलेगी और अगर आप 1 TB की हार्ड डिस्क लेते हैं तो वह आपको सिर्फ 3799 में मिलेगी तो आपको सिर्फ 300-400 रुपए और देने होंगे और आपको 500 GB ज्यादा मिल जाएगा अगर आपको 1TB की जरूरत है तो आप 2TB तक की ले लीजिए इसके लिए आपको 2000 रूपए और ज्यादा देने पड़ेंगे और आपको 1TB ज्यादा मिल जाएगा.

Company :– अगर आप किसी एक स्पेशल कंपनी की हार्दिक लेना चाहते हैं तो आप WD, Samsung, Seagateऔर Sony इन 4 में से किसी भी एक कंपनी की एक्सटर्नल हार्ड डिस्क आप ले सकते हैं यह चारों ही कंपनी आप बहुत बढ़िया है और इंडिया में सबसे ज्यादा इन चार कंपनी की ही हार्ड डिस्क बिकती है.

तो आपको हार्ड इसके बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी अब अगर आप हार्ड डिस्क खरीदना चाहते हैं तो आप एक बढ़िया हार्ड डिस्क खरीद सकते हैं अगर इसके बारे में और कोई सवाल हो तो आप नीचे कमेंट करके जरूर पूछे.

Pappu Bandod

मेरा नाम पप्पू बन्डोड मुझे हमेशा से ही कुछ ना कुछ नया करने की आदत है जब भी में अकेला होता हु तब तब में एक कुछ नए चीज का निर्माण जरुर कर देता हु मेरा मतलब ये है की में हमेशा नये विचार से कुछ न कुछ तैयार करता हु और उस विचार को में लिख लेता हु इसी लिए में यह वेबसाइट बनाई ताकि जब भी में कुछ नया सिखु तो में औरो को भी सीखा सकू अपने विचरो से अपने भवनों से धन्यवाद !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *